छात्र कल्याण का मुद्दाःफोन की कीमत 14,400 रूपये बैंक खातों में सीधे ही भेज दिए जाए

हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की
हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की

छात्रों को स्मार्ट फोन देने की बजाय बैंक खातों में रूपया भेजे, सरकारः हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

उत्तर प्रदेश सरकार, छात्रों को स्मार्ट फोन देने जा रही है
उत्तर प्रदेश सरकार, छात्रों को स्मार्ट फोन देने जा रही है

स्मार्ट फोन देने के बजाय सरकार को छात्रों के खाते में सीधे रूपया भेजना चाहिए, इससे जहां बंदरबाट होने से रूकेगी, वहीं छात्र इस रूपये से कई जरूरी पाठय सामग्री तक खरीद सकेगें। यह सुझाव पत्र समाजसेवी हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित ने सरकार तक पहुंचाया है। ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के गांव जमालपुर निवासी युवा किसान हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित पहले भी इस तरह के ज्वलंत मुद्दों को उठाते हुए सरकार को कई तरह के सुझाव भी देते रहे हैं।  किसान सम्मान निधि, किसान बीमा और अग्निवीरांं के हितों को लेकर समाजसेवी हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित ने पहले भी गौतमबुद्धनगर के सांसद डा0 महेश शर्मा और डीएम के माध्यम से इस तरह के सुझाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक प्रेषित किए हैं।

मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के लिए भी गौतमबुद्धनगर डीएम मनीष कुमार वर्मा
मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के लिए भी गौतमबुद्धनगर डीएम मनीष कुमार वर्मा

उत्तर प्रदेश सरकार, छात्रों को स्मार्ट फोन देने जा रही है, पेश किए गए बजट में बकायादा सरकार ने एक निश्ति राशि छात्रांं के स्मार्ट फोन देने के लिए आवांटित की है। समाजसेवी हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की है कि उत्तर प्रदेश के 3,600 करोड रूपये के बजट में से 25 लाख छात्रों को स्मार्ट फोन दिए जाने के स्थान पर फोन की कीमत 14,400 रूपये बैंक खातों में सीधे ही भेज दिए जाएं। सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तिकरण योजना के तहत 25 लाख छात्रों को यह स्मार्ट फोन सरकारी मद्द के तौर पर निशुल्क दिए जाने हैं, किंतु इस सरकारी मद्द का पूर्णरूपेण सदुपयोग होने के लिए छात्रों को स्मार्ट फोन देने के स्थान पर कीमत 14,400 रूपये बैंक खातों में भेज दिए जाएं। ऐसा इसलिए है कि चूंकि 80 से 90 प्रतिशत छात्रों के पास खुद के ही स्मार्ट फोन हैं।

सासंद गौतमबुद्धनगर डा0 महेश शर्मा को भी सुझाव पत्र दिया
सासंद गौतमबुद्धनगर डा0 महेश शर्मा को भी सुझाव पत्र दिया

दूसरा सरकारी योजनाओं में आम जनमानस को दी जानी वाली वस्तुओं की गुणवत्ता पर प्रश्न चिन्ह लगते ही रहते हैं। तीसरा जिन छात्रों के पास खुद के स्मार्ट फोन हैं, उनकों कीमत राशि मिल जाने से वे अपनी सिम को अगले कई साल तक रिचार्ज करा सकेंंगे और साथ ही अतिरिक्त ज्ञान अर्जन के लिए शिक्षण संबंधी वस्तुएं भी खरीद सकेंगें। चौथा जिन छात्रों के पास खुद का स्मार्ट फोन नही है, वे मिलने वाली राशि से किसी भी रिटेलर शॉप से सौदेबाजी के आधार पर 8 या 10 हजार रूपये में किसी अच्छी कंपनी का अच्छी गुणवत्ता का फोन खरीद सकेंगे और बची राशि से अगले 2 या 3 साल तक सिम रिचार्ज करा सकेंगे। हरेंद्र शर्मा उर्फ बिट्टू पंडित ने बताया कि इस संबंध में एक पत्र प्रधानमंत्री के लिए 28 अगस्त-2023 को भेज दिया है और जिस पर अगले दिन यानी 29 अगस्त-2023 को प्रधानमंत्री कार्यालय से उक्त पत्र याथोचित कार्यवाही के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव को प्रेषित किया गया हैं। साथ ही मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के लिए भी गौतमबुद्धनगर डीएम मनीष कुमार वर्मा और साथ ही सासंद गौतमबुद्धनगर डा0 महेश शर्मा को भी सुझाव पत्र दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate

can't copy

×
%d bloggers like this: