अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला-बिहार पवेलियन में लगी भीड़

 

फैशन ई कॉमर्स कंपनी हाउस ऑफ मैथिली के प्रोडक्ट की डिमांड
फैशन ई कॉमर्स कंपनी हाउस ऑफ मैथिली के प्रोडक्ट की डिमांड

 बिहार पवेलियन में पूर्णिया की अपनी और बिहार की पहली फैशन ई कॉमर्स कंपनी हाउस ऑफ मैथिली के प्रोडक्ट की डिमांड

Vision Live/New Delhi

दिल्ली के प्रगति मैदान में 14 नवंबर से 27 नवंबर तक चलने वाले भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला का आगाज हो चुका है, इस मेले में न सिर्फ भारत बल्कि दुनिया के कई और देशों के चुनिंदा और उत्कृष्ट उत्पाद प्रदर्शित किए जा रहे है, इस बार मेले में सहयोगी राज्य की भूमिका में बिहार भी शामिल है, जहां बिहार के 50 से ज्यादा कलाकार और कारीगर अपने अपने उत्पादों को प्रदर्शित कर रहे हैं।

बिहार पवेलियन में बिहार की पहली आर्ट और क्राफ्ट बेस्ड फैशन स्टार्टअप कम्पनी हाऊस ऑफ मैथिली को भी इस मेले में स्टार्टअप स्कीम के तहत अपने अनोखे और बेहतरीन उत्पाद के साथ जगह दी गई है। पहले दिन ही हाउस ऑफ मैथिली के स्टाल पर ग्राहकों की अच्छी खासी भीड़ देखने को मिली, हाउस ऑफ मैथिली के संस्थापक मनीष रंजन  बताया कि हाऊस ऑफ मैथिली बिहार के पूर्णिया में स्थित एक स्टार्टअप कम्पनी है जहां पूर्णिया की 45 से अधिक महिलाओं को हुनरमंद बना कर उन्हें रोजगार देने की शुरुआत की गई है और सिर्फ़ एक साल के भीतर इनके प्रोडक्ट की अच्छी खासी मांग बढ़ गई है। प्योर हैंडलूम कपड़े पर कढ़ाई, एप्लिक और खूबसूरत हैंड पेंटिंग से बने महिलाओं के परिधान बरबस ही सबका ध्यान अपनी ओर खींचते हैं।

फैशन ई कॉमर्स कंपनी हाउस ऑफ मैथिली के प्रोडक्ट की डिमांड
फैशन ई कॉमर्स कंपनी हाउस ऑफ मैथिली के प्रोडक्ट की डिमांड

बिहार पवेलियन में पूर्णिया की अपनी और बिहार की पहली फैशन ई कॉमर्स कंपनी हाउस ऑफ मैथिली के प्रोडक्ट की डिमांड बढ़ती जा रही है। हाउस ऑफ मैथिली के हैंडलूम कॉटन प्रॉडक्ट्स वहां सबके आकर्षण का केंद्र बना हुआ है, बताते चलें कि इन प्रोडक्ट्स को पूर्णिया की ही महिला कारीगरों ने ही तैयार किया है। इस मेले में हाउस ऑफ मैथिली के संस्थापक मनीष रंजन और क्रिएटिव हेड हर्ष मेहता अपनी स्टार्टअप कम्पनी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। हर्ष मेहता ने बताया कि पहले ही दिन बायर्स का काफी अच्छा रिस्पॉन्स देखने को मिला है और आशा है कि यहां से हमें कुछ अच्छे ऑर्डर जरूर मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate

can't copy

×
%d bloggers like this: