जानिएः- यमुना प्राधिकरण की 78 वीं बोर्ड बैठक में लिए गए अहम फैसले

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 78 वीं बोर्ड चेयरमैन अनिल सागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई
यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 78 वीं बोर्ड चेयरमैन अनिल सागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई

यमुना प्राधिकरण की 78 वीं बोर्ड बैठक में लिए गए अहम फैसले-घेर, पशु शेड, ट्यूबवैल, चारा मशीन, पशुओं के चारा खाने का स्थान समेत जो जमीन होगी उसे आबादी माना जाएगा

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/यीडा सिटी

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 78 वीं बोर्ड चेयरमैन अनिल सागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई और जिसमें कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। यीडा में नए. हुए कई अहम फैसलों से किसानों की ज्यादातर समस्याएं दूर हो जाएंगी। वैसे यमुना क्षेत्र में मुआवजा, अतिरिक्त मुआवजा, सात फीसदी आबादी, बैकलीज और शिफ्टिंग की प्रमुख समस्याएं आज भी बरकरार हैं। यमुना प्राधिकरण ने इस बोर्ड बैठक में किसानों के इन सभी मुददों को हल करने का प्रयास किया है। यमुना प्राधिकरण बोर्ड बैठक में ने गांव की आबादी की परिभाषा को पांच अनुसंगी शब्द से परिभाषित करते हुए घेर, पशु शेड, ट्यूबवैल, चारा मशीन, पशुओं के चारा खाने का स्थान समेत जो जमीन होगी उसे आबादी माना जाएगा। इसके अलावा आबादी की समस्या दूर करने के लिए शिफ्टिंग पॉलिसी को भी अपनाने का फैसला लेते हुए उनको शिफ्ट किया जाएगा। लीजबैक और शिफ्टिंग के 110 मामलों को बोर्ड ने मंजूर कर लिया है। एयरपोर्ट क्षेत्र के सभी किसानों को आगामी जमीन अधिग्रहण से 3100 रुपये प्रतिवर्गमीटर या 2780 रुपये प्रतिवर्गमीटर और सात फीसदी आबादी भूखंड दिया जाएगा। साथ ही चकबंदी से प्रभावित किसानों को अतिरक्ति मुआवजा की समस्या को भी दूर किया गया है। इससे यमुना प्राधिकरण ने अपने क्षेत्र की समस्याएं तो दूर कर ली हैं, लेकिन नोएडा और ग्रेनो प्राधिकरण की समस्याएं बढ़ा दी हैं। दोनों प्राधिकरणों पर किसान इन्हीं समस्याओं को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

मास्टर प्लान.2041 में संशोधन के बाद चोला रेल कारिडोर और एक्सप्रेसवे को जेवर में नोएडा एयरपोर्ट से जोड़ने की मंजूरी मिल गई
मास्टर प्लान.2041 में संशोधन के बाद चोला रेल कारिडोर और एक्सप्रेसवे को जेवर में नोएडा एयरपोर्ट से जोड़ने की मंजूरी मिल गई

चोला रेल कारिडोर और एक्सप्रेसवे को नोएडा एयरपोर्ट से जोड़ने की मंजूरी

. अब डेडिकेटेड ट्रेन जेवर एयरपोर्ट से दिल्ली आईजीआई एयरपोर्ट तक पहुंचा सकेंगी

मास्टर प्लान.2041 में संशोधन के बाद चोला रेल कारिडोर और एक्सप्रेसवे को जेवर में नोएडा एयरपोर्ट से जोड़ने की मंजूरी मिल गई है। इसके लिए चोला से जेवर तक करीब 16 किमी लंबे रेलवे कारिडोर और एक्सप्रेसवे को समानांतर बनाने की मंजूरी दे दी गई है। वहीं नोएडा एयरपोर्ट से दिल्ली आईजीआई एयरपोर्ट को जोड़ने डेडिकेटेड ट्रेन जेवर से दिल्ली आईजीआई तक पहुंच सकेंगी। एयरपोर्ट से चोला स्टेशन तक एक्सप्रेसवे बनाने पर भी सहमति बन गई है। इसके आसपास लॉजिस्टक हबए वेयरहाउस और औद्योगिक गतिविधियां शुरू कराई जा सकेंगी। अब प्राधिकरण इस प्रस्ताव को शासन के द्वारा रेलवे मंत्रालय को भेजेगा। अधिकारियों की मानें तो नोएडा एयरपोर्ट को दिल्ली से जोड़ने और उस क्षेत्र का विकास करने के लिए यह परियोजनाएं शुरू की जाएंगी। यहीं पर एक्रोपोलिस सिटी और ओलंपिक विलेज बनाने की योजना है।

किसानों को एयरपोर्ट में रनवे के लिए पहले फेज में 2300 रुपये प्रतिवर्गमीटर मुआवजा दिया गया था। मगर अब उनको 3100 रुपये की अंतरधनराशि भी दी जाएगी
किसानों को एयरपोर्ट में रनवे के लिए पहले फेज में 2300 रुपये प्रतिवर्गमीटर मुआवजा दिया गया था। मगर अब उनको 3100 रुपये की अंतरधनराशि भी दी जाएगी

एयरपोर्ट में किसानों को मिलेगी अंतरधनराशि

कुरैब गांव के 356 खाताधारक 1500 किसानों को एयरपोर्ट में रनवे के लिए पहले फेज में 2300 रुपये प्रतिवर्गमीटर मुआवजा दिया गया था। मगर अब उनको 3100 रुपये की अंतरधनराशि भी दी जाएगी। जगनपुर.अफजलपुर, अटटा.फतेहपुर और दनकौर के 10 हजार से अधिक किसानों को अतिरिक्त मुआवजा चकबंदी विभाग से दस्तावेज नहीं मिलने के कारण रुका था। अब पहले फेज में सड़क, पार्क, सीवर समेत अन्य प्रयोजन में गई जमीन के किसानों को मूल मुआवजा दस्तावेज के आधार पर अतिरिक्त मुआवजा दिया जाएगा। मगर किसानों को सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार 80 फीसदी मामले वापस लेने होंगे।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate

can't copy

×
%d bloggers like this: