यह कोई ऐसे वैसी जंग नहीः- गौतमबुद्धनगर में 4 भाटियों के बीच जंग हुई शुरू

जिला एवं सत्र न्यायालय सूरजपुर
जिला एवं सत्र न्यायालय सूरजपुर

गौतमबुद्धनगर दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन कार्यकारणी चुनाव 2023-24 , परिदृष्य

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/गौतमबुद्धनगर

गौतमबुद्धनगर में 4 भाटियों के बीच जंग शुरू हो गई है। दादरी से दनकौर के बीच बसे भटनेर में पहली बार 4 भाटी बिल्कुल आमने सामने आ गए है। हैरत बिल्कुल, यह कोई ऐसे वैसी जंग नही, बल्कि कडा चुनावी मुकाबला होने जा रहा है। जी हां हम बात कर रहे हैं गौतमबुद्धनगर की दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन कार्यकारणी चुनाव 2023-24 की। गौतमबुद्धनगर के जनपदीय दीवानी एवं फौजदारी एसोसिएशन में संभवत पहली बार देखा जा रहा है कि बार अध्यक्ष पद के लिए इस बार 4 प्रत्याशी भाटी गौत्र के आ डटे हैं

मनोज भाटी एडवोकेट बोडाकी
मनोज भाटी एडवोकेट बोडाकी
प्रमेंद्र भाटी एडवोकेट
प्रमेंद्र भाटी एडवोकेट

गौतमबुद्धनगर की बात करें तो यहां भाटी गौत्र के अलावा नागर गौत्र के लोगों का भी अच्छा खासा वर्चस्व है। दादरी और यहां तक दनकौर के इर्द गिर्द ही नागर गौत्र के लोगों के गांवों की संख्या अच्छी खासी है। बाकी के इस दादरी और दनकौर के इलाके में भाटी गौत्र के लोगों का बोलबाला है। जिला एवं सत्र न्यायालय सूरजपुर में भी वकीलों की बात करें तो भाटी और नागर तथा दूसरे कई गौत्र के वकील भी एक दूसरे से किसी तरह कम नही है। देखा जाए तो यहा बार अध्यक्ष पद पर ज्यादातर भाटी गौत्र के वकीलों का ही कब्जा रहा है। वैसे कई दूसरे गौत्र के वकील भी चुनाव में अपनी किस्मत आजमाते रहे हैं। फिलहाल यहां पर कालूराम चौधरी दूसरी बार, बार अध्यक्ष के पद पर हैं जब कि बार सचिव के पद पर नीरज तंवर हैं। जनपद दीवानी एवं फौजदारी एसोसिशन कार्यकारणी वार्षिकी-2023-24 का चुनाव, इस बार आगामी 21 दिसंबर-2023 को होना तय माना जा रहा है। इसमें करीब 2000 वकीलां के द्वारा मताधिकार का प्रयोग किए जाने की पूरी संभावना है। इस बार, बार अध्यक्ष पद के लिए 4 भाटी गौत्र के वकील आमने सामने आ चुके हैं। इनमें 2 पूर्व बार अध्यक्ष भी चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे है।

उमेश भाटी एडवोकेट
उमेश भाटी एडवोकेट
अलबेल भाटी एडवोकेट
अलबेल भाटी एडवोकेट

उमेश भाटी एडवोकेट पिछली बार भी चुनाव मैदान में थे और इस बार भी ताल ठोक चुके हैं। अलबेल भाटी एडवोकेट बार अध्यक्ष पद के लिए पहली बार चुनाव मैदान में कूदे हैं। पूर्व बार अध्यक्षों में प्रमेंद्र भाटी एडवोकेट और मनोज भाटी एडवोकेट बोडाकी पहले ही चुनाव मैदान में आ कर डट चुके हैं। नए अधिवक्ताओं को चैंबर दिलाना, साफ सफाई, कचहरी में भ्रष्टाचार को दूर किए जाने समेत कई मुद्दे हर बार की तरह इस बार भी छाये हुए हैं। वैसे नए अधिवक्ताओं को चैंबर दिलाने का मुद्दा अब खत्म होने के कगार भी है। मनोज भाटी एडवोकेट बोडाकी, सुशील भाटी की कार्यकारणी से शुरू हुआ चैंबर निमार्ण का मामला अब कालूराम चौधरी की बार कार्यकारणी में हल हो चुका है। हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के द्वारा हाल ही में मल्टी स्टोरी बिल्डिंग का शिलान्यास, जहां चैंबर बनाए जाने है, किया गया है। यहां चुनावी उंट चाहे जिस करवट बैठ जाए, मगर मतदाताओं को हर तरह से लुभाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate

can't copy

×
%d bloggers like this: